HTTP और HTTPS क्या है? | HTTP and HTTPS kya hai? | दोनों में अंतर क्या है?

क्या आप जानते हैं की HTTP और HTTPS क्या होता है? आप ने इन दोनों शब्दों को अपने ब्राउज़र के address bar में जरूर देखा होगा जहां पर हम कोई भी वेबसाइट लिंक डालते हैं। HTTP और HTTPS किसी भी वेबसाइट के यूआरएल के शुरुआत में आपको जरूर देखने को मिलेगा।

इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि HTTP और HTTPS क्या होते हैं और इन दोनों में अंतर क्या है।

HTTP क्या है? | HTTP kya hai?

http

HTTP का पूरा नाम है – Hyper Text Transfer Protocol). यह एक प्रकार का नेटवर्क प्रोटोकोल है जो कि वेब ब्राउजर और सर्वर के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान में उपयोग होते हैं। जब भी किसी वेबसाइट के URL की शुरुआत में HTTP लिखा जाता है तो वेब ब्राउज़र और सर्वर के बीच किसी भी प्रकार के डाटा का आदान-प्रदान होने पर इन्हें कुछ नियमों का पालन करना पड़ता है जो कि HTTP प्रोटोकोल द्वारा निर्धारित होते हैं। ये डाटा कुछ भी हो सकते हैं जैसे की -text, images, document,audio,video etc.

इस प्रोटोकॉल से या निर्धारित किया जाता है कि आदान-प्रदान होने वाले डाटा का फॉर्मेट कैसा होगा और उन सब डाटा का ट्रांसमिशन किस किस तरीके से होगा।

HTTPS क्या है? | HTTPS kya hai?

https

HTTPS का पूरा नाम है – Hyper Text Transfer Protocol Secure). यह HTTP का सुरक्षित वर्जन है। इसमें SSL सर्टिफिकेट का उपयोग किया जाता है जोकि सरवर और ब्राउज़र के बीच एक सुरक्षित इंक्रिप्टेड कनेक्शन बनाने में मदद करता है।

HTTPS के मुख्य तीन उद्देश्य होते हैं – Privacy,Integrity and Authentication. HTTPS कनेक्शन में सारे डेटा या इंफॉर्मेशन को क्रिप्टोग्राफी के द्वारा इंक्रिप्ट कर दिया जाता है। सभी डाटा या इंफॉर्मेशन को ऐसे फॉर्मेट में बदल दिया जाता है कि उसे बिना decryption key के decode करना मुश्किल हो जाता है। इसलिए इस कनेक्शन में सारे सेंसेटिव डाटा और इंफॉर्मेशन सुरक्षित रहते हैं।

HTTP और HTTPS में क्या अंतर है? | HTTP and HTTPS mae kya difference hai?

http and https

HTTP

HTTPS

HTTP का पूरा नाम है – Hyper Text Transfer Protocol) HTTPS का पूरा नाम है – Hyper Text Transfer Protocol Secure)
इसमें  किसी भी  URL की शुरुआत http:// से शुरू होती है। इसमें  किसी भी  URL की शुरुआत https:// से शुरू होती है।
इस प्रोटोकॉल(HTTP) का आविष्कार Sir Timothy John ने किया था। इस प्रोटोकॉल(HTTPS) का आविष्कार Netscape Corporation ने किया था।
HTTP डिफ़ॉल्ट(default) रूप से पोर्ट(port) 80 का उपयोग करता है। HTTPS डिफ़ॉल्ट(default) रूप से पोर्ट(port) 443 का उपयोग करता है।
यह कम सुरक्षित है। यह ज्यादा  सुरक्षित है।
HTTP वेबसाइट को SSL की आवश्यकता नहीं पड़ती  है। HTTPS वेबसाइट को SSL की आवश्यकता  पड़ती  है।
HTTP Google में रैंकिंग को बेहतर बनाने में कोई मदद नहीं करता है। HTTPS Google में रैंकिंग को बेहतर बनाने में मदद करता है।
इसमें हैकिंग की संभावना अधिक है। इसमें हैकिंग की बहुत कम संभावना है।

 

इन्हें भी पढ़ें :

डिजिटल मार्केटिंग और ट्रेडिशनल मार्केटिंग | Digital and Traditional marketing kya hai?

Hosting और Domain क्या है ? पूरी जानकारी | Hosting or Domain kya hai?

hi Hindi
af Afrikaanssq Albanianam Amharicar Arabichy Armenianaz Azerbaijanieu Basquebe Belarusianbn Bengalibs Bosnianbg Bulgarianca Catalanceb Cebuanony Chichewazh-CN Chinese (Simplified)zh-TW Chinese (Traditional)co Corsicanhr Croatiancs Czechda Danishnl Dutchen Englisheo Esperantoet Estoniantl Filipinofi Finnishfr Frenchfy Frisiangl Galicianka Georgiande Germanel Greekgu Gujaratiht Haitian Creoleha Hausahaw Hawaiianiw Hebrewhi Hindihmn Hmonghu Hungarianis Icelandicig Igboid Indonesianga Irishit Italianja Japanesejw Javanesekn Kannadakk Kazakhkm Khmerko Koreanku Kurdish (Kurmanji)ky Kyrgyzlo Laola Latinlv Latvianlt Lithuanianlb Luxembourgishmk Macedonianmg Malagasyms Malayml Malayalammt Maltesemi Maorimr Marathimn Mongolianmy Myanmar (Burmese)ne Nepalino Norwegianps Pashtofa Persianpl Polishpt Portuguesepa Punjabiro Romanianru Russiansm Samoangd Scottish Gaelicsr Serbianst Sesothosn Shonasd Sindhisi Sinhalask Slovaksl Slovenianso Somalies Spanishsu Sudanesesw Swahilisv Swedishtg Tajikta Tamilte Teluguth Thaitr Turkishuk Ukrainianur Urduuz Uzbekvi Vietnamesecy Welshxh Xhosayi Yiddishyo Yorubazu Zulu