डिजिटल मार्केटिंग और ट्रेडिशनल मार्केटिंग | Digital and Traditional marketing kya hai?

डिजिटल मार्केटिंग क्या है ? | Digital marketing kya hai?

digital marketing

Digital marketing जैसा की दो शब्दों से मिलकर बना है – Digital और Marketing.Digital का मतलब है इंटरनेट और Marketing का मतलब विज्ञापन।तो Digital Marketing का मतलब हुआ किसी कम्पनी या आर्गेनाइजेशन द्वारा उनके प्रोडक्ट्स और सर्विस को online बेचना या मुहैया कराना।

Digital Marketing के अंतर्गत Search engine optimization (SEO),social media marketing (smo),search engine marketing (sem),social media optimization (smo),content writing, email marketing, e-commerce marketing,website development, application development, affiliate marketing इत्यादि सम्मिलित हैं।

डिजिटल मार्केटिंग के टूल्स | Digital Marketing ke Tools

tools of digital marketing

Digital Marketing को थोड़ा प्रभावशाली बनाने के लिए हम बहुत सारे टूल्स का प्रयोग कर सकते हैं । कुछ टूल्स ट्रैफिक को ट्रैक करने के लिए होता है , कुछ कीवर्ड्स का पता लगाने के लिए या कुछ वेबसाइट की indexing  चेक करने के लिए इत्यादि । इनमें से कुछ टूल्स के नाम मैं आपको बताने जा रहा हूँ ।

  • Google Analytics
  • Google Search Console
  • Google Adsense
  • Google Keyword Planner
  • Ahrefs
  • Semrush
  • Yoast
  • All in one SEO
  • Ubersuggest
  • Mailchimp
  • Canva
  • Google Adwords
  • Hubspot
  • Buzzstream
  • Hotjar
  • Grammerly
  • Wyng
  • Buffer
  • Dropbox
  • Trello

 

ट्रेडिशनल मार्केटिंग क्या है? | Traditional Marketing kya hai?

traditional marketing

Traditional Marketing वह Marketing है जो काफी लंबे समय से चलता आ रहा है जिसमें इंटरनेट का उपयोग नहीं किया जाता है। ऐसे जो भी व्यापार हैं जिसमें इंटरनेट का उपयोग नहीं किया जाता है वह सब  Traditional Marketing के अंतर्गत आते हैं।

Traditional Marketing में अगर किसी व्यापारी को अपना प्रोडक्ट या सर्विस ग्राहक तक पहुंचाना होता है तो उस व्यापारी को ग्राहक तक जाना पड़ता है या फिर ग्राहक उस व्यापारी के पास आता है। आप सबको पता ही है कभी दुनिया में इंटरनेट काफी जोरो जोरो से छाया हुआ है। ज्यादातर काम इंटरनेट के जरिए ही हो रहे हैं। इसलिए Traditional Marketing लगभग खत्म होने के कगार पर है। अगर आपको बिजनेस में सक्सेस होना है तो Traditional Marketing को छोड़कर इंटरनेट Marketing को अपनाना ही होगा।

Digital Marketing और Traditional Marketing में क्या अंतर है? Digital Marketing and Traditional Marketing mae kya difference hai?

Digital Marketing

Traditional Marketing

Digital Marketing करने के लिए इंटरनेट की जरूरत पड़ती है। Traditional Marketing करने के लिए इंटरनेट की जरूरत नहीं   पड़ती है।
Digital Marketing करने में कम पैसा लगता है। Traditional Marketing करने में ज्यादा  पैसा लगता है।
Digital Marketing में हम एनालिसिस अच्छे तरीके से कर सकते हैं। Traditional Marketing में हम एनालिसिस नहीं  कर सकते हैं।
Digital Marketing के द्वारा काफी कम समय में किसी भी व्यापार को एक ब्रांड बनाया जा सकता है। Traditional Marketing के द्वारा काफी कम समय में किसी भी व्यापार को एक ब्रांड नहीं बनाया जा सकता है।
 Digital Marketing 24/7 की जा सकती है।  Traditional Marketing 24/7 नहीं  की जा सकती है।

 

hi Hindi
af Afrikaanssq Albanianam Amharicar Arabichy Armenianaz Azerbaijanieu Basquebe Belarusianbn Bengalibs Bosnianbg Bulgarianca Catalanceb Cebuanony Chichewazh-CN Chinese (Simplified)zh-TW Chinese (Traditional)co Corsicanhr Croatiancs Czechda Danishnl Dutchen Englisheo Esperantoet Estoniantl Filipinofi Finnishfr Frenchfy Frisiangl Galicianka Georgiande Germanel Greekgu Gujaratiht Haitian Creoleha Hausahaw Hawaiianiw Hebrewhi Hindihmn Hmonghu Hungarianis Icelandicig Igboid Indonesianga Irishit Italianja Japanesejw Javanesekn Kannadakk Kazakhkm Khmerko Koreanku Kurdish (Kurmanji)ky Kyrgyzlo Laola Latinlv Latvianlt Lithuanianlb Luxembourgishmk Macedonianmg Malagasyms Malayml Malayalammt Maltesemi Maorimr Marathimn Mongolianmy Myanmar (Burmese)ne Nepalino Norwegianps Pashtofa Persianpl Polishpt Portuguesepa Punjabiro Romanianru Russiansm Samoangd Scottish Gaelicsr Serbianst Sesothosn Shonasd Sindhisi Sinhalask Slovaksl Slovenianso Somalies Spanishsu Sudanesesw Swahilisv Swedishtg Tajikta Tamilte Teluguth Thaitr Turkishuk Ukrainianur Urduuz Uzbekvi Vietnamesecy Welshxh Xhosayi Yiddishyo Yorubazu Zulu